“देश परदेश” : अनेक यात्राओं के अनुभव से जोड़ती पुस्तक

“मेरी समझ से दुनिया की सर्वश्रेष्ठ वस्तु है घुमक्कड़ी I घुमक्कड़ से बढ़कर व्यक्ति और समाज का कोई हितकारी नहीं हो सकता I” -राहुल संकृत्यायन …

पुस्तक चर्चा : मिथिला चित्रकला का सिद्धांत

पिछले दिनों अपने हिमालय यात्रा से लौटते ही मिथिला लोक संस्कृति के संरक्षण और संवर्धन के प्रति समर्पित युवा प्रतिभाशाली लेखक, संस्कृतिकर्मी और मेरे मित्र …

‘मिथिला चित्रकला का सिद्धांत’ : लेखक-राकेश कुमार झा

युवा लेखक राकेश कुमार झा की पुस्तक “मिथिला चित्रकला का सिद्धांत” पर कलागुरु प्रो. जयकृष्ण अग्रवाल जी की प्रतिक्रिया, जय सर के फेसबुक वाल से …

“शिप्रा” एक दशक का नाम है !

जहां तक याद आता है कलाकार/ कला लेखक अशोक भौमिक से पहली मुलाकात लगभग आठ दस साल पहले हुई थी। उससे पहले जैनुल आबेदीन एवं चित्तोप्रसाद …

जैसी प्रीति कुटुम्ब की, तैसी गुरु सों होय..

मुझे यकीन है कि मूर्तिकार मदनलाल से आप भी परिचित होंगे। क्योंकि मदनलाल हमारे समय के एक महत्वपूर्ण मूर्तिकार हैं। वर्ष 1954 में आजमगढ जिले …

हिंदी में कला लेखन और पुस्तकें

पिछले महीने जो पुस्तकें प्राप्त हुईं, उनमें से एक है ‘भारतीय चित्रकला का इतिहास’। जिसके लेखक हैं राकेश गोस्वामी। इस पुस्तक को कला महाविद्यालयों के …

भारतीय भित्तिचित्रण परंपरा पर एक समग्र दृष्टि

मानव जाति द्वारा निर्मित पहला चित्र कौन सा रहा होगा? उसका माध्यम और विषय क्या था कहना मुश्किल ही है। किन्तु उपलब्ध साक्ष्यों के आधार …